जनता की भागीदारी से होगा अरपा का संवर्धन, एक्शन प्लान बनेगा,

*जनता की भागीदारी से होगा अरपा का संवर्धन, एक्शन प्लान बनेगा,

बिलासपुर, 12 मार्च 2020। बिलासपुर में अरपा नदी सदा बहती रहे इसके लिए 15 दिन के अंदर कोर कमेटी गठित की जायेगी और एक्शन प्लान बनाया जायेगा। इसके लिए हर 15 दिन में बैठक होगी। अरपा नदी के संवर्धन के लिए व्यापक अभियान चलाया जायेगा जिसमें जन-भागीदारी सुनिश्चित की जायेगी।
इस सम्बन्ध में आज कलेक्टर डॉ. संजय अलंग की अध्यक्षता में जनप्रतिनिधियों, विभिन्न संगठनों और समाज के विभिन्न वर्गों के प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री प्रदीप शर्मा, बिलासपुर के विधायक श्री शैलेष पांडेय, नगर-निगम के महापौर श्री रामशरण यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अरूण सिंह चौहान सहित उपस्थित लोगों ने महत्वपूर्ण सुझाव दिये।
बैठक में अरपा में जल संवर्धन के लिए विभिन्न विभागों द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी गई। जल संसाधन विभाग के अधिकारी ने बताया कि अरपा नदी में जल संवर्धन के लिए बिलासपुर डायवर्सन से पचरी घाट तथा इंदिरा सेतु से शिव घाट के बीच दो बैराज बनाये जाएंगे। इसके लिये 39 करोड़ की योजना बनाई गई है जिसका सर्वेक्षण पूरा हो गया है। अभी ड्राइंग व डिजाइन का कार्य चल रहा है। उन्होंने इसका विस्तार से प्रेजेन्टेशन दिया। जल संसाधन विभाग के अधिकारी ने प्रतिनिधियों की शंकाओं का समाधान करते हुए कहा कि बैराज से किसी के घर, रपटे या पुल को कोई नुकसान नहीं होगा। इसमें करीब तीन मीटर जल भराव होगा। इसके बन जाने से देवरीखुर्द से रामकृष्ण आश्रम कोनी तक बारहों माह अरपा में पानी रहेगा। नगर निगम आयुक्त श्री प्रभाकर पांडेय ने बताया कि स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत अरपा नदी के समानान्तर रिवर व्यू सड़क व ड्रेन का विकास किया जायेगा। वन मंडलाधिकारी ने बताया कि नरवा विकास योजना के तहत 14 नालों का उपचार किया जा रहा है, ये सभी नाले अरपा नदी में आकर मिलते हैं।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने श्री रीतेश अग्रवाल ने बताया कि नरवा गरुवा घुरूवा और बाड़ी योजना के तहत 14 नालों को वैज्ञानिक तरीके से उपचारित करने के लिए डीपीआर बनाया गया है। इनमें 3500 स्ट्रक्चर प्रस्तावित हैं। कैचमेंट एरिया पर भी कार्य किया जायेगा।
बैठक में निर्णय लिया गया कि अरपा के संरक्षण के लिए उद्गम स्थल से कार्य शुरू किया जायेगा।
*अरपा नदी के विकास को लेकर वेबसाइट बनेगी*
मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री प्रदीप शर्मा ने कहा कि अरपा नदी के विकास की योजना की जानकारी आपस में साझा करने के लिए वेबसाइट तैयार की जायेगी, जिसमें बिना भेदभाव सबके सुझाव लिये जायेंगे। अरपा का काम तेजी से चले इसके लिए 10 सदस्यों की कोर टीम बनेगी। श्री शर्मा ने सुझाव दिया कि अरपा डायवर्सन के पास जमा होने वाली जलकुंभी को खत्म करने के लिए वहां कमल के पौधे लगाये जायें। ये पौधे जलकुंभियों से नदी को बचायेंगी।
*अभियान को नाम देने आम जनता सुझाव दें*
कलेक्टर डॉ. संजय अलंग आम जनता से अपील की है कि अरपा संवर्धन के व्यापक अभियान को एक नाम दिया जायेगा, जिसके लिए वे अपना सुझाव दें। उन्होंने कहा कि जन भागीदारी से वर्क प्लान तैयार किया जायेगा। इस अभियान के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री रीतेश अग्रवाल को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया।
आज की बैठक में सभापति शेख नजीरूद्दीन, अटल श्रीवास्तव, शैलेन्द्र जायसवाल, डॉ. देवेन्दर सिंह, प्रथमेश मिश्रा, अनिल तिवारी आदि ने भी सुझाव दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *