लेटेस्ट :

पिकनिक मनाना है ? जाने छत्तीसगढ़ की इन रहस्य भरी जगहों के बारे में

पिकनिक मनाना है ? जाने छत्तीसगढ़ की इन रहस्य भरी जगहों के बारे में

पिकनिक मनाना है ? जाने छत्तीसगढ़ की इन रहस्य भरी जगहों के बारे में

अगर आप इस ठण्ड की सीजन में पिकनिक प्लानिक कर रहे है तो आज हम आपको बताने जा रहे है छत्तीसगढ़ के कुछ अद्भुत और आश्चर्यजनक जगहों के बारे में. अगर आप इन जगहों पर पिकनिक मानाने जाते है तो आपको इसके दो फायदे होगे. पहला ये की आपका पिकनिक में जाने का प्लानिग किया है तो इंजॉय करोगे, दूसरा ये की ये छत्तीसगढ़ के महत्वपूर्ण रहस्यमय जगह इससे आपको इनके रहस्य भी जानने देखने और सुनने का मौका भी मिल जायेगा.तो चलिए आगे बढ़ते है हुए आपको बताते है छत्तीसगढ़ के रहस्य जगहों के बारे में.

1. मैनपाट की स्पंजी जमीन

मैनपाट अपनी सुन्दरता और शिमला जैसा ठण्ड होने के कारण छत्तीसगढ़ के शिमला के नाम से जाना जाता है. मैनपाट की सुन्द्ता प्रकृति वातावरण लोगो के मन को बहुत भाति है. यंहा न केवल छत्तीसगढ़ बल्कि दुसरे राज्यों से भी हजारो की संख्या में जलजला नाम की जगह को देखने आते है. यंहा 1997 में भूकम्प आया था जिसके बाद जमीन के अन्दर के दबाव तथा खाली स्थानों में पानी भर गया था जिसकी वजह से यंहा की जमीन पर कम्पने अनुभव होती है. इसलिए अगर आप इस जमीन पर कूदोगे तो आपको ऐसा लगेगा की जमीन रबर की तरह आपको उछाल रही है. 

2. टिनटिनी पत्थर – अंबिकापुर 

दावा किया जाता है की दरिमा में स्थित टिनटिनी पत्थर पत्थर मंगल गृह से गिरा हुआ उल्का पिंड है. माना जाता है की उल्टा पिंड के रूप में गिरते समय इसमें आग लगी थी और हलके गैस के तत्व निकले थे. भारी तत्व और इसमें निकले वाली गैसों से बने गड्ढे केकारण इस पत्थर को बजाने से छ: प्रकार की  आवाजे आती है, घंटी की तरह ही. इसी कारण इसका नाम टिनटिन पत्थर पड़ा है.

3. कुटुम्बसर की गुफा में अंधी मछलियां

कांकेर वैली नेशनल पार्क के पास एक अँधेरी कुटुम्बसर गुफा है जो पानी से घिरा हुआ जगह है. जन्हा पर अंधी मछलिय रहती है यहा सूरज जी रोशनी नहीं पहुचती जिसके कारण यंहा आने वाला व्यक्ति खुद को पूरा अँधा महसूस करता है. जिसके कारण यंहा की मछलियों की आँखों में एक पतली झिल्ली चढ़ चुकी है. जिससे वो पूरी  तरह से अंधी हो गई है. 

4. नागलोक बिलासपुर 

बिलासपुर क्षेत्र में बसे फरसाबहार गाँव का नाम ही नागलोक है. इस गाँव में 40 से भी ज्यादा प्रजातियों के सांप पाए जाते है. जिसमे दुनिया के जहरीले सांप भी शामिल है. इस गाँव में सांप निर्भीक होकर घुमते है और इंसान भी इसे अपने परिवारिक सदस्य की तरह रखता है. ये शोध का विषय है की इस गाँव में जाते है खतरनाक सांप भी पालतू क्यों हो जाते है.

5. गर्म पानी का कुंड

बलरामपुर जिला में गर्म पानीं के आठ-दस कुंड स्थित है. इस कुंड का पानी बहुत गर्म होता है कुंड के पानी का तापमान लगभग 96-100 डिग्री सेंत्रिग्रेट तक होता है. इतने गर्म पानी में तो आलू भी उबल जायेगा. इस कुंड की खास बात ये है की कुंड के पानी में सल्फर की मात्रा नीली हुयी है जिससे त्वचा रोग ठीक होता है. गरमपानी होने के करण स्थानीय भाषा में इसे तातापानी कहते है. इस कुंड का पानी इतना गर्म रहता है की इस कुंड से हमेशा भाप निकलता रहता है.

छत्तीसगढ़ और देश से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए खबर छत्तीसगढ़  के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें

rupendrasahu1616

leave a comment

Create Account



Log In Your Account